Google+ Followers

Sunday, 26 April 2015

संदेह से देखना....

संदेह से देखना तेरी आदत है, पर मेरी यारी भी देख..
खामियां मुझ में लाख सही, पर मेरी वफादारी भी देख..
यूँ न कर मुझे अलग खुद से , मेरी लाचारी भी देख..
ले झुकी तेरे कदमों  में , तेरे आगे सब हारी भी देख..

http://hottystan.blogspot.in/