Google+ Followers

Thursday, 18 December 2014

सरे बाज़ार निकलूं....


सरे बाज़ार निकलूं तो आवारगी की तोहमत,,
तन्हाई में बैठू तो इलज़ाम-ऐ-मुहब्बत..!

http://hottystan.mywapblog.com/